Why we celebrate Dussehra | How we celebrate Dussehra

Rawan Dahan 2021

दोस्तों दशहरे के समारोह पर रावण के पुतंले को जलाया जाता है. और 2021 में 15 अक्टूबर को 6PM रावण दहन का सही समय है.

दशहरा क्यों मनाते हैं :-

दोस्तों आज हम बात करते है.की आज हम दशहरा क्यों मनाते है ,जैसे की आप title देख चुके है (why and how we celebrate dussehra ). दोस्तों दशहरे के दिन भगवान राम ने रावण को मार गिराया था, और लंका पर विजय प्राप्त की और माता सीता को रावण की कैद से आजादी दिलायी। उसके बाद विभिक्षण को लंका का राजा बना दिया। फिर भगवन राम दिवाली के दिन अयोद्धया पंहुचे। भगवन राम के 14 वर्षो के वनवास के बाद अपने घर पंहुचे थे. इस खुशी में हम लोग दिवाली का त्यौहार मनाते है. तो दोस्तों अब हम बात करेंगे (how to celebrate dussehra) हम दशहरा कैसे मनाते है.

How to celebrate Dussehra in india (हम दशहरा कैसे मनाते हैं):-

दोस्तों दशहरा हम आशोज मास की दशमी (10) को मनाते है. दशहरे के दिन हम रावण का पुतला जलते है और घरो में ढेर साडी मिठाईया बनाई जाती है. अपने आस परोस के लोगो में उन मिठाईयों को बांटा जाता है. सब एक दूसरे को बधाईया देते है. अब हम बात करेंगे की हम हर साल रावण का पुतला क्यों जलते है.

रावण जिसको की हम बुराई का प्रतीक मानते है. वेशे तो भगवान राम और रावण दोनों शिव भक्त थे, पर राम अच्छायी का साथ देते थे और रावण बुराई का साथ देता था. और उसने बहोत सारे लोगो पर अन्याय किये थे. तो हम दशहरे के दिन रावण का पुतला बना कर जलाते है. यह सोच कर की हम ने बुराई का नाश कर दिया है. पर हम लोग अपने अंदर की बुराईयो को नहीं जलते। तभी तो आज देश में इतने सरे अपराध हर दिन होते है. अगर हम रावण को जलाने ने साथ अपने मन की बुराईयो को भी जला दे, तो हमारे रावण को जलाने का सही फायदा देश और समाज को मिलेगा। दशहरे को हम विजयादशमी भी कहते है.

हम आसा करते है जो जानकारी हम ने आप को इस पोस्ट में दी वो आप लोगो पसंद आयी होगी। अगर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को दशहरे की बधाई देना चाहते है. तो हम ने एक और page बनाया है, जिस पर आपको आप को dussehra wishes की images मिले गई. उन images को आप download  कर के शेयर कर  सकते है.

happy dussehra 2021
happy dussehra

अगर आपको why and how we celebrate dussehra का पोस्ट पसंद आया तो अपने दोस्तों में शेयर जरूर करे.

you can also check this page on wikipedia Vijayadashami.

Leave a Comment